सुपर कंप्यूटर क्या है और किसने बनाया? – Super Computer Kya Hai – हिंदी में

सुपर कंप्यूटर क्या है? – Super Computer Kya Hai क्या आपके मन में भी ये सवाल उठता है चिंता मत कीजिये आज के इस आर्टिकल में जानेंगे। आज कल हम Information Technology का जो उपयोग कर रहे हैं। यह Technology Computer की बिना हमारे कोई काम नहीं आ सकती।

हमें जो कुछ भी जानकारी और ज्ञान मिलता है वह सब Computer की वजह से ही मुमकिन हो पाया है। अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में हम जो Computer इस्तेमाल करते हैं। उसे साधारण Computer कहा जाता है सामान्य Computer से साधारण कार्य जैसे छोटी मोटी Calculation करना, Typing करना, Project बनाना, Game खेलना और Movie देखना है।

साधारण Computer के अलावा एक और Computer है। जिसका इस्तेमाल बड़े बड़े कामों को पूरा करने के लिए किया जाता है। वह Computer साधारण Computer के मुकाबले बड़ी-बड़ी Calculations को चंद मिनटों में दिखाता है मौसम के बारे में भी बताता है बड़ी-बड़ी मशीनों को बनाने में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है प्राकृतिक संसाधन यानी कि Natural Resources के बारे में जानकारी इकट्ठा करने का कार्य करता है।

जो यह सारे बड़े-बड़े काम करता है उस Computer को Super Computer कहा जाता है। Super Computer के बारे में तो आप सभी ने सुना होगा और थोड़ी बहुत जानकारी तो आप सभी के पास होगी लेकिन आज हम आपके लिए Super Computer के बारे में जानकारी लेकर आये है ताकि आप Super Computer के बारे में थोड़ा और जान सके। लेकिन उससे पहले दोस्तों आप सभी का बहुत-बहुत स्वागत है हमारे इस ब्लॉग में जीस का नाम है Tech Upaay. 

Super Computer क्या है? (Super Computer Kya Hai)

supercomputer

तो सबसे पहले हम जानेंगे कि सुपर कंप्यूटर क्या होता है? लेकिन Super Computer के बारे में जाने से पहले हम समझ ने की कोशिश करेंगे की कंप्यूटर क्या है? उसके बाद हम जानेंगे की सुपर कंप्यूटर क्या है?Computer एक सामान्य उद्देश्य से काम करने वाली मशीन है, जो Input Devices जैसे Keyboard और Mouse के जरिए Users से Data लेती है फिर उस Data की प्रक्रिया करता है और प्रक्रिया के बाद User को Output देता है।

एक सामान्य Computer इसी तरह से काम करता है लेकिन Super Computer का काम इस से कहीं ज्यादा अधिक और तेज होता है। Super Computer को कहां पर काम में लिया जाता है जहां पर बहुत ज्यादा पावर और तेज गति के साथ वास्तविक काल में बड़ी Calculations की जरूरत होती है।

Super Computer को हिंदी में महासंगड़क कहा जाता है। Super Computer सामान्य कंप्यूटर की तरह एक ही समय में एक ही काम नहीं करता बल्कि एक समय में वो अनगिनत कार्य करने की क्षमता रखता है क्योंकि Super Computer Serial Processing की जगह Parallel Processing के आधार पर काम करता है।

साधारण Computer कार्य को पूरा करने के लिए Serial Processing का उपयोग करते हैं। जिस में एक समय में एक ही काम किया जाता है मतलब एक कार्य की खत्म होते ही दूसरे कार्य की प्रक्रिया शुरू हो जाती है जिसकी वजह से इसमें कार्य की प्रक्रिया धीमी होती है।

लेकिन Super Computer में हजारों Processors लगे होते हैं जो हर सेकंड में अरबों करोड़ों प्रक्रिया को करने की ताकत रखते हैं। एक Super Computer कार्य को पूरा करने के लिए Parallel Processing का Use करता है। जिसमें वह एक कार्य को छोटे-छोटे हिस्सों में बांट देता है और उसमें दिया हुआ Processor उस कार्य को तेज गति से करना शुरू कर देता है।

सबसे बड़े और शक्तिशाली Super Computer Parallel Processing का इस्तेमाल करते हैं। इसमें वह कोई भी Processing को तेजी से कर सकते हैं। Super Computer में एक साथ कई Micro Processors एक साथ काम करते हुए किसी भी मुश्किल समस्या का तुरंत हल निकाल लाते हैं इसके किसी काबिलियत के आधार पर उसको Super Computer कहा जाता है।

Super Computer बड़ी-बड़ी गणनाय बहुत ही जल्द कर लेता है। Super Computer 1 सेकंड में 1 अरब गणनाय कर सकता है। Super Computer की गति की गणना FLOPS यानी Floating Point Operations Per Second में की जाती है। जबकि साधारण Computer की गति की गणना MIPS यानी Million Instructions Per Second की जाती है।

Operating System की बात की जाए तो जब नए Super Computer की शुरुआत हुई थी तब Super Computer UNIX Operating System पर कार्य करते थे लेकिन समय और Technology में बदलाव के साथ Super Computer में LINUX Operating System का इस्तेमाल किया जाता है।

हालाकि मैन्युफैक्चरर अपने हिसाब से Operating System को Change भी कर लेते हैं। LINUX के अलावा Santos BULLX लिनस जैसे Operating System का भी इस्तेमाल किया जाता है। ज्यादातर Super Computer का उपयोग Scientific कार्य के लिए किया जाता है और ज्यादातर Programming Language के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है।जैसे कि C, C++, Java, Python.

Super Computer साधारण Computer के मुकाबले में हर तरह से बेहतर है। इसीलिए इसकी कीमत भी बहुत ज्यादा होती है। इसे खरीदना आम इंसान के बस के बाहर है। Super Computer की कीमत इस बात पर निर्भर है कि वह कितनी FLOPS की गति पर कार्य करता है। जो Super Computer जितना ज्यादा तेज होगा उतनी ही उसकी ज्यादा कीमत होगी।

Super Computer की ऊंचाई भी बहुत ज्यादा होती है। 100 फीट तक होती है इसीलिए सुपर कंप्यूटर की कीमत बहुत ज्यादा होती है इसकी कीमत $900000 से लेकर 100 Million Dollar तक की होती है।

Super Computer का Size इस बात पर निर्भर करता है कि वह कितने कंप्यूटर से मिलकर बना है एक सुपरकंप्यूटर 10, 100, 1000 या उससे भी ज्यादा कंप्यूटर से मिलकर बना हो सकता है और यह सभी कंप्यूटर एक साथ काम करते हैं। तो ये हमने सीखा की सुपर कंप्यूटर क्या है

सुपर कंप्यूटर का उपयोग कहां किया जाता है?

Super Computer का उपयोग खासकर ऐसे क्षेत्रों में किया जाता है जिनमें बड़े पैमाने पर calculation करने की जरूरत पड़ती है वैसे अगर देखा जाए तो Super Computer का ज्यादा उपयोग Scientific और Engineering लिए किया जाता है। ताकि यह बड़े-बड़े Data Base को हैंडल कर सके और साथ ही बड़ी मात्रा में Computation Operation कर सके।

अगर Performance की बात करें तो यह आम Computer के मुकाबले में हजार गुना ज्यादा अच्छा काम करता है Super Computer बहुत बड़े और महंगे होते हैं इसलिए इनका इस्तेमाल खासकर ऐसी जगह पर किया जाता है जहां पर बड़ी-बड़ी कैलकुलेशन की बहुत जरूरत पड़ती है।

इसके अलावा Special Operations में भी इसकी जरूरत पड़ती है ऐतिहासिक रूप से Super Computer का इस्तेमाल मौसम की भविष्यवाणी यानी Weather Forecast के लिए भी किया जाता है। Super Computer का इस्तेमाल Climate Research के लिए भी किया जाता है।

सुपर कंप्यूटर कब और किसने बनाया?

अब दोस्तों हम जानेंगे के Super Computer कब और किसने बनाया था। अगर आप Super Computer के बारे में जानना चाहेंगे तो आप यह देखेंगे कि Super Computer को किसी एक व्यक्ति ने नहीं बनाया था। बल्कि एक टीम ने मिलकर Super Computer को बनाया है लेकिन अगर बात Super Computer की आती है तो इसका सबसे बड़ा श्रेय Seymour Cray को जाता है। क्योंकि Super Computer को बनाने में इनका योगदान सबसे ज्यादा है।

विश्व का सबसे पहला सुपर कंप्यूटर 1960 में इन्हीं के जरिया बनाया गया था जिसका नाम था CDC 1604. विश्व के 2 सबसे तेज Super Computer America के हैं। इन दोनों कंप्यूटर के नाम है SUMMIT और SIERRA है। दोनों IBM Technology का इस्तेमाल करते हैं।

Super Computer SUMMIT को 2018 में सबसे तेज Super Computer का ताज पहनाया गया था। SUMMIT से पहले China का Sunway TaihuLight विश्व का सबसे तेज Super Computer था जिसकी अनुमानित कीमत 273 मिलियन डॉलर थी।

कुल मिला के दुनिया के 10 Super Computer में 5 America के Super Computer है और दो China के Super Computer है और एक Switzerland का Super Computer है और एक Japan का Super Computer है और एक Germany का है।

इस मामले में हमारा भारत भी किसी चीज में पीछे नहीं है हाल ही में भारत के पास 5 सबसे तेज Super Computer है।  भारत के 5 सबसे तेज़ Super Computer के नाम निचे दिए हाय हैं।

  1. Pratyush Cray xc40. 
  2. Sahastra Cray xc40.
  3. Aaditya IBM/lenovo System.
  4. IIT Delhi HPC.
  5. Param Yuwa 2.

भारत का अपना सबसे पहला सुपर कंप्यूटर सन 1991 में मिला जिसका नाम था PARAM 8000. भारत का सबसे तेज Super Computer Pratyush Cray xc40 है। इसकी मेमोरी 1.5 Terabyte की है। भारत के Super Computer की सबसे तेज स्पीड 42.50 FLOPS पर सेकंड है। इस कंप्यूटर को मौसम वातावरण के समझने के उद्देश्य से बनाया गया था यह कंप्यूटरआंधी, तूफान, भूकंप, बाढ़ वगैरा जैसी चीजों की जांच कर सकता है।

तो दोस्तों उम्मीद है कि आपको हमारा यह आर्टिकल सुपर कंप्यूटर क्या है(What is Super Computer in Hindi) के बारे में समझ में आ गया होगा। अगर आपको समझ में ना आया हो तो आप निचे कमेंट कर सकते हैं। यदि आपको हमारे इस पोस्ट कोई कमी या कोई गलती नज़र आयी हो तो आप हमें बेझिझक कमेंट करके बता सकते हैं।

इन्हें भी पढ़ें। 

 

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here